Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / कलयुग में भगवान शिव की साधना से बरसती है कृपा- स्वामी भवानीनंदन

कलयुग में भगवान शिव की साधना से बरसती है कृपा- स्वामी भवानीनंदन

जखनियां। कलयुग में भगवान शिव की साधना कृपा बरसाने वाली है। शिव की पूजा में पार्थिव लिंग के पूजन का विशेष महत्व है। पार्थिव शिवलिंग का पूजन करने वाले साधकों पर हमेशा शिव की कृपा बरसती है।  उस बातें सिद्धपीठ हथियाराम मठ के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी भवानीनन्दन यति जी महाराज ने सिद्धपीठ में महाशिवरात्रि के अवसर पर चल रहे पार्थिव शिव रुद्राभिषेक के अवसर पर श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा। महाशिवरात्रि पर्व पर मिट्टी के सवा लाख पार्थिव शिवलिंग बनाकर विधि विधान से रुद्राभिषेक पूजन के दौरान उन्होंने कहा कि पार्थिव शिवलिंग पूजन से भक्तों पर शिवकृपा बरसती है और साधक की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। शिवपूजन में पार्थिव लिंग पूजन का विशेष महत्व है। पार्थिव पूजन करने वाले शिव साधक पर भोले बाबा की सदैव कृपा बनी रहती है। शिव महा पुराण के अनुसार पार्थिव पूजा से तत्क्षण कलत्र पुत्रादि धन धान्य को प्रदान करती है और इस लोक में सभी मनोरथ को भी पूर्ण करती है। सबसे अहम इस पूजा से अकाल में होने वाली अपमृत्यु का भी भय दूर हो जाता है। श्री यति जी ने बताया कि महाशिवरात्रि या अन्य दिनों में पा​र्थिव शिवलिंग की पूजा स्त्री—पुरुष सभी कर सकते है। शिव महापुराण के अनुसार सभी वर्ण और सभी वर्ग के लोग भगवान शिव लिंगार्चन- शिवार्चन- रुद्राभिषेक आदि वैदिक अनुष्ठान कर सकते हैं। शिव पूजन करने में स्त्रियो का भी उतना ही अधिकार है| शिव सौभाग्य के देवता हैं इसलिए सुहागिन स्त्रियां भगवान शंकर से जुड़े तमाम व्रत एवं पूजन करती हैं। विधवा स्त्रियो को पारद के शिव लिंग के पूजन का विधान है, उन्हें पार्थिव पूजन नहीं करना चाहिए। इस अवसर पर रुद्राभिषेक महायज्ञ के यजमान डॉ वीरेंद्र यादव विधायक जंगीपुर, जितेंद्र सिंह वैभव, हरिश्चंद्र सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, जगदीश सिंह, यज्ञ के आचार्य शंभू नाथ पाठक, श्रवण कुमार तिवारी सहित सिद्ध पीठ के शिष्य परिवार से जुड़े देश के कोने-कोने से हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। रुद्राभिषेक महायज्ञ पूजा के दौरान गंगोत्री सेवा समिति वाराणसी की गंगा महाआरती टीम द्वारा महाआरती का प्रस्तुतीकरण भी किया गया।

About admin

Check Also

गंगा सुरक्षा समिति के सदस्य बनाये गये अमरनाथ तिवारी

गाजीपुर। भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना के तहत गंगा के निर्मलकरण अभियान के अंतर्गत सभी …