Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / सपा सुप्रीमो अखिलेश का सेवराई में श्रद्धांजलि कार्यक्रम: टूटे दिलों पर मरहम और समाजवादी एकता का देंगे संदेश

सपा सुप्रीमो अखिलेश का सेवराई में श्रद्धांजलि कार्यक्रम: टूटे दिलों पर मरहम और समाजवादी एकता का देंगे संदेश

शिवकुमार

गाजीपुर। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव का 15 फरवरी को सेवराई में आकर पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह के पिता स्‍व. गया सिंह को श्रद्धांजलि देने के कार्यक्रम की चर्चा राजनैतिक गलियारों में जोरों पर है। राजैनतिक पंडितों के अनुसार अखिलेश यादव ने इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम में आने की स्‍वीकृति देकर एक तीर से कई राजनीतिक लक्ष्‍य पर निशाना लगाया है। एक तरफ पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह से पिछले वर्षो से रिश्‍तों में आयी खटास पर मरहम लगाने और दूसरी तरफ जिले में चल रही गुटबाजी को समाप्‍त कर समाजवादी संगठन को मजबूत कर 2019 के लोकसभा चुनाव का लक्ष्‍य भेदना है। ज्ञातव्‍य है कि पिछले वर्ष विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी दंगल में पूर्व पयर्टन मंत्री ओमप्रकाश सिंह पर तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव नाराज हो गये थे और उन्‍होने चाचा शिवपाल के समर्थक होने का चार्ज लगाते हुए ओमप्रकाश सिंह, शादाब फातिमा को मंत्रि‍मंडल से बर्खास्‍त कर दिया व विजय मिश्रा का सदर विधानसभा से टिकट काट दिया। विधानसभा चुनाव में पूर्व पयर्टन मंत्री ओमप्रकाश सिंह का पार्टी के प्रति वफादारी का लंबा इतिहास देखते हुए उन्‍हे सपा से टिकट मिल गया लेकिन वह चुनाव हार गये। चुनाव हारने के बाद ओमप्रकाश सिंह अपनी खोई हुई विरासत को पाने के लिए दिन-रात एक कर पुराने रिश्‍तों से गिले-शिकवे भूलकर एक बार फिर समाजवादी परचम लहराने के लिए एड़ी से चोटी तक का जोर लगाकर कार्य कर रहे हैं। प्रदेश अध्‍यक्ष से राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष की भूमिका में आने के बाद सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव को भी ओमप्रकाश सिंह के पार्टी के प्रति निष्‍ठा का प्रमाण मिला और धीरे-धीरे दोनों में रिश्‍ते सुधरने लगे। स्‍वयं अखिलेश यादव ने कई बार बड़े कार्यक्रमों में पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह को संबोधन के लिए कहा। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भी यह जानते हैं कि लोकसभा 2019 का लक्ष्‍य बहुत कठीन है, उनके दोनों राजनीतिक प्रतिद्वंदी भाजपा और बसपा की शक्ति दिन पर दिन बढ़ रही है। उनसे चुनाव में मुकाबला करना बहुत कठिन कार्य है। पार्टी में गुटबाजी रहते हुए अपने प्रतिद्वंदियों को पराजित करा असंभव है। अखिलश यादव ने कार्यक्रम में आने की स्‍वीकृति देकर यह संदेश दिया है कि सपा में कोई गुटबाजी नही है, पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह सपा के सच्‍चे सिपाही हैं। मुलायम सिंह की तरह हम भी ओमप्रकाश सिंह के हर सुख-दुख में खड़े हैं। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव 11 बजे लखनऊ से हवाई जहाज से चलेंगे। 12:10 पर अंधऊ हवाई अड्डा पर पहुंचेंगे। चर्चित ताड़ीघाट-बारा मार्ग से सेवराई पहुंचेंगे। यह वही मार्ग है जिसको अखिलेश यादव ने अपने मुख्‍यमंत्री काल में इस राजमार्ग की स्‍वीकृति दी थी। लेकिन उनके नाराजगी के कारण आज राजमार्ग आधा-अधूरा पड़ा है।

About admin

Check Also

गंगा सुरक्षा समिति के सदस्य बनाये गये अमरनाथ तिवारी

गाजीपुर। भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना के तहत गंगा के निर्मलकरण अभियान के अंतर्गत सभी …