Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » गाजीपुर: जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों के उदासीनता से योगी सरकार की महत्वांकाक्षी योजना सामूहिक विवाह जिले में फेल

गाजीपुर: जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों के उदासीनता से योगी सरकार की महत्वांकाक्षी योजना सामूहिक विवाह जिले में फेल

शिवकुमार

गाजीपुर। जन जागृति के आभाव में योगी सरकार की महत्‍वांकाक्षी योजना सामूहिक विवाह जिले में फेल नजर आ रहा है। समाज कल्‍याण विभाग बर्तन, कपड़ा, पायल, मोबाईल लेकर टेंट लगाने की आस में खड़ा है लेकिन अभी तक उसको दस जोड़ी वर-वधु नही मिलें जिससे की योगी सरकार के सपने को गाजीपुर के धरती पर उतारा जा सकें। इसके लिए प्रशासनिक लापरवाही मानें या जनप्रतिनिधियों की उदासीनता।

समाज कल्‍याण अधिकारी जितेंद्र मोहन शुक्‍ल ने पूर्वांचल न्‍यूज डॉट काम को बताया कि इस योजना के लिए हमारे पास 1 करोड़ 66 लाख रूपये है, लेकिन आचार संहिता और खरवास लगने के कारण अभी तक कोई सामूहिक विवाह हम नही करा पाये है। सामूहिक विवाह में कम से कम दस जोड़े वर-वधू का विवाह होना अनिवार्य है। एक जोड़े वर-वधू के शादी के लिए सरकार ने कन्‍या के खाते में 20 हजार रूपया, पाचं हजार टेंट, दस हजार रूपये में कन्‍या के लिए मोबाईल, पायल, बर्तन, कपड़ा आदि का इंतजाम करना है। एक जोड़े शादी के लिए कुल 35 हजार रूपये खर्च करने की शासन ने स्‍वीकृति दी है। इस संदर्भ में जिला पंचायत अध्‍यक्ष आशा यादव ने बताया कि हमने जिला पंचायत के सभी अधिकारियों, जिला पंचायत सदस्‍यों व ठेकेदारो से सामूहिक विवाह के बारें में अपने क्षेत्र के गरीब वर-वधूओं को बताने और उन्‍हे प्रोत्‍साहन देने का अपील किया है। अध्‍यक्ष ने बताया कि एक सामूहिक विवाह में सरकार द्वारा निर्धारित धन राशि अगर कम पड़ेगी तो मैं व्‍यक्तिगत रूप से शेष धनराशि का सहयोग करूंगी। उन्‍होने सभी जिला पंचायत सदस्‍य, क्षेत्र पंचायत सदस्‍य, ग्राम प्रधान से अपील किया है कि सामूहिक विवाह बहुत ही पूण्‍य का कार्य है इसमें सारे लोग दलगत भावना से उठकर सहयोग करें।

About admin

Check Also

एसपी ने 15 उप निरीक्षकों को किया इधर से उधर

गाजीपुर। पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने मंगलवार की देर रात 15 उप निरीक्षकों का फेरबदल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *