Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » हक और पद के महत्वकांक्षा की लड़ाई में सीएम योगी व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के रिश्तों में दरार की चर्चा जोरों पर

हक और पद के महत्वकांक्षा की लड़ाई में सीएम योगी व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के रिश्तों में दरार की चर्चा जोरों पर

शिवकुमार

लखनऊ/गाजीपुर। हक और पद के महत्‍वकांक्षा की लड़ाई में सीएम योगी और डि‍प्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के रिश्‍तों में दरार की चर्चा राजनीतिक गलियारों में जोरों पर है।  दोनों के बीच रिश्‍ते में खटास की चर्चाएं राजनेताओं से लेकर नौकरशाहों के बीच चर्चा का विषय बन रहा है। 2017 में केशव प्रसाद मौर्या के अगुवाई में भाजपा ने विधानसभा का चुनाव लड़ा। इस चुनाव में पहली बार यादव अदर्स बैकवर्ड जाति कुशवाहा, राजभर, बिंद, विश्‍वकर्मा आदि ने लामबंद होकर भाजपा के पक्ष में वोट दिया। जिससे भाजपा को इस चुनाव में ऐतिहासिक जीत मिली। केशव प्रसाद मौर्या अभी मुख्‍यमंत्री के सपने संजो रहे थें कि उनके महत्‍वकांक्षा के राह में संघ के एजेंडे मे फिट बैठने वाले योगी हिंदुत्‍व की हार्डलाईनर इमेज बाधक बन गयी। मुख्‍यमंत्री के रुप में योगी के नाम की घोषणा होते ही केशव प्रसाद मौर्या के सीने में दर्द भी उठ गया था। जो अंदर ही अंदर आज भी कायम है। केशव प्रसाद मौर्या के मुख्‍यमंत्री न बनने से आज भी कुशवाहा समाज बहुत ही आहत है। बहरहाल भाजपा के हाईकमान ने दोवदारी में चल रहे केशव भी खुश रहे और शर्मा भी खुश रहे इसलिए दोनों को प्रदेश का डिप्‍टी सीएम पद पर बैठाकर शांति से रहने का संकेत दिया। लेकिन यादव अदर्स बैकवर्ड समाज के नौकरशाहों को महत्‍वहीन विभाग देकर उनको हासिए पर लाने से केशव प्रसाद मौर्या काफी आहत दिखे। जिसके चलते सीएम योगी और डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के बीच संवाद कम होने लगा और तल्‍खी इतनी बढ़ी कि एक-दूसरे के बचने का प्रयास करने लगे। सूत्रों के अनुसार सीएम योगी भी नायब केशव प्रसाद मौर्या के महत्‍वकांक्षा को भली-भांति जानते है इसीलिए वह भी कोई दांव नही छोड़ना चाहते हैं। मुख्‍यमंत्री के पुराने दफ्तर को केशव प्रसाद मौर्या ने जब लेना चाहा तो योगी जी ने उस पर कड़ा ऐतराज जताया और सचिवालय में केशव प्रसाद मौर्या को दूसरा ठि‍काना दिया गया। इधर तल्‍खी काफी बढ़ गयी है, गांधीनगर में गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्‍यमंत्री योगी जी केशव प्रसाद मौर्या को छोड़कर डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा केा साथ ले गये। क्‍योंकि दिनेश शर्मा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह के गुडबुक में सबसे उपर हैं। दूसरी घटना हिंमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शपथ ग्रहण कार्यक्रम का था, जब सीएम योगी सरकारी प्‍लेन से डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा को शिमला लेकर पहुंचे तो केशव प्रसाद मौर्या को भी नागवार गुजरा, उन्‍होने एक चार्टर्ड प्‍लेन किया और शिमला पहुंच गये। जहां पर नवनिर्वाचित मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्‍सा लिया। इस संदर्भ में भाजपा के प्रदेश प्रवक्‍ता नवीन श्रीवास्‍तव ने बताया कि सीएम योगी और डिप्‍टी सीएम केशव मौर्या के बीच रिश्‍तों में दरार की खबर गलत है। दोनों के रिश्‍ते काफी पुराने हैं। आज भी केशव प्रसाद मौर्या सीएम योगी जी का बड़ा सम्‍मान करते हैं। दोनों के रिश्‍तो में दरार की खबर सपा और बसपा की साजिश है। जिससे कि भाजपा के पक्ष में लामबंद यादव अदर्स बैकवर्ड जातियों के बीच भ्रम फैलाकर उनको तोड़ा जाये।

About admin

Check Also

गाजीपुर: जनपद के सभी प्राथमिक व जूनियर हाईस्कूल 17 जनवरी को बंद

गाजीपुर। जिला बेसिक शिक्षाधिकारी श्रवण कुमार गुप्‍ता ने बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर जनपद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *