Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » विधायक विरेंद्र यादव के सियासी दांव से भाजपा चारों खाने चित्त

विधायक विरेंद्र यादव के सियासी दांव से भाजपा चारों खाने चित्त

गाजीपुर। नगर पंचायत जंगीपुर में विधायक डा. विरेंद्र यादव के सियासी दांव से भाजपा चारों खाने चित्‍त हो गयी है। विरेंद्र यादव के इस सियासी चाल का राजनीतिक गलियारों में चर्चा जोरो पर है कि विरेंद्र यादव ने इस दांव से जहां एक ओर भाजपा को चारो खाने चित्‍त कर दिया वहीं दूसरे ओर अपने पार्टी में एक बार पुन: मजबूती से उभरे हैं। तीन नगर पालिका और पांच नगर पंचातयों में अध्‍यक्ष पद पर बसपा चार, भाजपा दो, और दो निर्दलियों के खाते में दर्ज था। अध्‍यक्ष पद के लिए समाजवादी स्‍कोर जीरो था। इस हार से सपा की काफी किरकिरी हुई कि सपा के दिग्‍गज नेता पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह, पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह, विधायक सुभाष पासी एक भी सीट सपा के झोली में नही डाल सके। भाजपा जंगीपुर नगर पंचायत की नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष विजयलक्ष्‍मी पत्‍नी लालजी गुप्‍ता को अपना मान कर चल रही थी, इसके संदर्भ में भाजपा के जिलाध्‍यक्ष भानुप्रताप सिंह बयान भी दे चुके थें कि लालजी गुप्‍ता पुराने भाजपाई हैं वह हमारे पात में जरुर बैठेंगे। समय बीतने के बाद विजयलक्ष्‍मी ने समाजवादी पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण कर सबको चौंका दिया क्‍योंकि केंद्र और राज्‍य में भाजपा की सरकार है। इसके बावजूद वह सपा में चली गयीं। नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष विजयलक्ष्‍मी ने कहा कि हम दिल-दिमाग से समाजवादी हैं। जंगीपुर कांड के बाद विजयलक्ष्‍मी का सपा में आना विरेंद्र यादव की बड़ी राजनीतिक जीत मानी जा रही है।

About admin

Check Also

गाजीपुर: जनपद के सभी प्राथमिक व जूनियर हाईस्कूल 17 जनवरी को बंद

गाजीपुर। जिला बेसिक शिक्षाधिकारी श्रवण कुमार गुप्‍ता ने बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर जनपद …