Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » गाजीपुर: सनबीम के 7वें वार्षिकोत्सव में बच्चों ने कराया भारतदर्शन

गाजीपुर: सनबीम के 7वें वार्षिकोत्सव में बच्चों ने कराया भारतदर्शन

गाजीपुर। नगर के प्रतिष्ठित विद्यालय सनबीम स्कूल, महाराजगंज, प्रांगण में रविवार को विद्यालय का सातवाँ वार्षिकोत्सव बड़ी धूम-धाम से सम्पन्न हुआ। वार्षिकोत्सव के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिले के जिलाधिकारी के. बालाजी, विशिष्ट अतिथ आदित्य चौधरी (डीन-क्रिएटिवटी आफ एकेडमिक, सनबीम एडूसर्व, वाराणसी) थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलन व गणेश वंदना से प्रारम्भ हुआ। इसके उपरांत विद्यालय के नवीन सिंह जी ने सभी अतिथियों एवं अभिभावकों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के विद्यार्थी हर्षित पटेल व सकीबा जमील ने किया। सर्वप्रथम शास्त्रीय संगीत से सजे ‘सुरसागर‘ नामक कार्यक्रम को प्रस्तुत किया गया। जिसमें विद्यालय के छात्र सूर्यकान्त वर्मा, रिमझिम सिंह, मो. नेहाल खान, निहारिका श्रीवास्तव तथा अन्य छात्र-छात्राओं ने अपने उत्कृष्ट संगीत कला के ज्ञान का प्रदर्शन कर कार्यक्रम में उपस्थित जन समूह को मंत्रमुग्ध कर दिया। उसके बाद विद्यालय की सिनीयर को-आर्डिनेटर श्रीमती अर्चना तिवारी ने विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए एक वर्ष में विद्यालय के पठन-पाठन एवं सभी गतिविधियों पर प्रकाश डाला तथा भविष्य में होने वाले गतिविधियों के बारे में भी बताया। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए बच्चों ने भारत दर्शन नामक नृत्य प्रस्तुति की। जिसमें उन्होंने भारत के विभिन्न प्रांतों के लोक-नृत्य को दर्शाया । जिसमें ढोलक, मणिपुरी, ओडिसी, मोहिनी अट्टम, कथकली, भरतनाट्यम्, कचिपुड़ि, कथक, राजस्थानी व भांगड़ा प्रस्तुत थे। भारत की परम्परा एवं सभी अतिथिगणों के स्वागत के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें अंकिता राय, अल्का, अंकिता चौरसिया, अंशिका जायसवाल, अर्पित, रेखा, खुशी यादव, पलक, अंशु यादव, जागृति मिश्रा व अन्य छात्र- छात्राओं ने भाग लिया। नन्हें-मुन्ने बच्चों की मासूमियत के तो सब कायल हैं तथा उनकी मस्ती को स्टेज पर प्रस्तुत किया गया।  ’ट्विंकल टोज’ नामक कार्यक्रम के रूप में नन्हें-मुन्ने द्वारा की गई इस प्रस्तुति में वातावरण को हर्षोल्लास से भर दिया। भारत में स्वच्छता के महत्त्व को आजकल सब समझ रहे हैं तथा अब हम इसे एक क्रांति की तरह देखते हैं। स्वच्छ भारत अभियान पर कार्यक्रम की अगली प्रस्तुती इंडियाज गाट मूवमेण्ट थी, जिसमें छात्र-छात्राओं ने स्वच्छ भारत अभियान पर वातावरण में फैली गंदगियों को साफ करके, उसे स्वच्छ करके भारत को स्वच्छता की ओर ले जाने का प्रयास किया तथा यह संदेश दिया कि अपने आस-पास का वातावरण और चारों तरफ फैली गंदगियों को साफ करना कितना आवश्यक है और महात्मा गाँधी के सपनों को साकार करने की सभी लोगों से अपील की। जिसमें कुशाल श्रीवास्तव, नैन्सी सिंह, प्रियांशु, प्रिया यादव इत्यादि छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। कार्यक्रम की अगली प्रस्तुति ‘स्वाभिमान: एज-इन-एक्शन‘ थी। बूढ़े माँ-बाप बोझ नहीं होते। अपितु वह तो एक छायादार वृक्ष के समान है। वह जब अपने बच्चों को पाल-पोस कर बड़ा करते हैं और इसके बदले में वह उनसे कुछ नहीं चाहते हैं। लेकिन बुढ़ापे में वो उन बच्चों पर बोझ क्यों बन जाते हैं ? समाज की इस बुराई को दूर करने के लिए बच्चों ने सभी उपस्थित अभिभावकगणों का इस ओर ध्यान दिलाया। जिसमें छात्र-छात्राओं ने उपस्थित सभी लोगों को देश में हो रहे बूढ़े माँ-बाप  के प्रति हो रहे अन्याय को दर्शाते हुए यह उद्घोष किया कि बस, अब बुजुर्ग लोग जुल्म नहीं सहेंगे। जिसमें अदिति, रमन, रन्जना, अंशिका, कार्तिक इत्यादि छात्र-छात्रओं ने भाग लिया। वेदान्ती द्वारा विद्यालय से सम्बन्धित क्रियाकलापों को ‘कारवां- इन्स्पायरिंग यंग जेनरेशन‘  कार्यक्रम के माध्यम से प्रस्तुत किया गया और लोगों को यह प्रेरणा देने की चेष्टा की कि किसी भी बड़े काम की शुरूआत एक छोटी सी पहल से ही होती है। उसके बाद मिस्टर के. बालाजी (डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रैट, गाजीपुर)  द्वारा छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि सनबीम गाजीपुर शिक्षा प्राप्त करने की जगह है जहाँ विद्यार्थियों को न केवल  शिक्षा प्रदान की जाती है, अपितु उनके भविष्य का निर्माण किया जाता है। तत्पश्चात् कार्यक्रम की अगली प्रस्तुति ‘कव्वाली मेडेली‘ थी। जिसमें बच्चों ने अपने देश की तारीफ की तथा यह भी बताया कि कैसे हमारा देश बड़ा व महान है। इस कव्वाली ने सभी दर्शकों के अन्दर नया उत्साह एवं जोश भर दिया।  इसमें श्वेता तिवारी, श्रेया रंजन, अंजली यादव, सूयांश प्रधान, सिद्धार्थ, अंकिता तिवारी, आर्यन मिश्रा इत्यादि छात्र-छात्राओं ने बेहतरीन ढंग से कव्वाली का प्रस्तुतीकरण किया। अगली प्रस्तुती  दिव्यांगों को समर्पित की गयी। इस प्रस्तुति का शीर्षक ‘स्पर्श – टाईम फार एक्शन‘ था। इसमें दिव्यांग बच्चे व बच्चियों के  भावनाओं को प्रदर्शित किया गया। जिसे देखकर सभी अभिभावक गण व अतिथि गण भाव-विभोर हो उठे। इस कार्यक्रम को शिखा तिवारी, रितेश बलवन्त, कार्तिक खरवार, आयुष राज,ओम जायसवाल व अन्य छात्रों ने अपना योगदान दिया और सभी लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया। क्षितिज राकर्स नामक प्रस्तुती के द्वारा विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने संगीत मय प्रस्तुति कर पूरे वातावरण को मधुर संगीत से सजा दिया। इस प्रस्तुति में प्रशांत उपाध्याय, अनिश चौबे, पल्लवी सिंह, रोशन यादव, आरव सिंह व अन्य छात्र-छात्राओं  ने वाद्य-यंत्रों का प्रयोग कर अनूठे संगीत को प्रस्तुत किया, जिसने कार्यक्रम की शोभा बढ़ा दी। स्त्रियों की सशक्तिकरण के लिए  ‘प्रेरणा-इन्स्पायरिंग वोमेन‘ नामक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई। जिसमें समाज में हो रहे स्त्रियों पर अत्याचार व दुव्र्यवहार को दिखाया गया व स्त्रियों को सशक्त बनाने के लिए प्रेरित किया गया तथा यह संदेश भी दिया कि आजकल की स्त्रियां पुरूष से कम नहीं। जिसमें अनन्या, आस्था, आरती एश्वर्या, सोनाली व अन्य छात्र-छात्राओं ने अपना योगदान दिया। अंतिम प्रस्तुति में बच्चों ने विद्यालय में सिखाये गए विभिन्न एलटीए परफारमेंस के द्वारा लोगों को प्रफुल्लित कर दिया। इस प्रस्तुति  में विद्यालय के अलग-अलग कक्षाओं के छात्रों ने मिलकर एक ऊर्जावान कार्यक्रम की प्रस्तुती दी और सभी लोगों को प्रशंसा करने पर बाध्य कर दिया। उसके बाद श्रीमान् आदित्य चौधरी (डीन-क्रिएटिवटी एण्ड अकेडमिक ) द्वारा छात्र-छात्राओं एवं वहाँ मौजूद सभी दर्शकों को सम्बोधित किया गया। उन्होंने बच्चों को प्रोत्साहन किया तथा बच्चों का मार्ग-दर्शन करते हुए उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों ने विद्यालय की व्यवस्था व छात्रों के उत्कृष्ट प्रदर्शन को देखते हुए सनबीम स्कूल, गाजीपुर को जिले का शिक्षा के क्षेत्र में एक सफल संस्थान बताया और उन्होंने सनबीम स्कूल, गाजीपुर के विद्यार्थियों को उनके भविष्य को लेकर योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि निश्चित रूप से आपके बच्चों का भविष्य सनबीम स्कूल, गाजीपुर में उज्जवल होगा।कार्यक्रम में विद्यालय के उपनिदेशिका श्रीमति शोभा सिंह , विद्यालय के सह निदेशक प्रवीन सिंह, व श्रीमती स्मिता सिंह, व मनीष मिश्रा, ज्योति शर्मा,मोनिका विश्वकर्मा, हेमा सिंह व सानिया आजम मौजूद रही । अंत में विद्यालय के डायरेक्टर के.पी. सिंह जी ने उपस्थित अतिथियों एवं अभिभावकों को कार्यक्रम में उपस्थित होकर विद्यालय का गौरव बढ़ाने के लिए धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने कार्यक्रम के सभी प्रतिभागियों, शिक्षकों एवं विद्यालय के समस्त कर्मचारियों को सफलतापूर्वक कार्यक्रम सम्पन्न करने के लिए धन्यवाद दिया। तत्पश्चात् राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

 

 

 

About admin

Check Also

जिले के तीन नगरपालिका व पांच नगर पंचायतों में दोपहर तक 28 प्रतिशत हुआ मतदान

गाजीपुर। निकाय चुनाव में जिले के तीन नगरपालिका व पांच नगर पंचायतों में दोपहर 1 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *