Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » सैदपुर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हुआ भव्य स्वागत

सैदपुर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हुआ भव्य स्वागत

सैदपुर। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्र नाथ पांडेय के अध्यक्ष बनने के बाद शुक्रवार को प्रथम जनपद आने के बाद उनके स्वागत को ऐतिहासिक भीड़ जुटी। उनके काफिले के आते ही पहले तो लोगों ने उन्हें फूल मालाओं से लाद दिया। इसके बाद उनके संग सेल्फी खिंचवाने वालों की भी भीड़ जुट गई। डा. पांडेय का सैकड़ों वाहनों का काफिला तय समय 10 बजे से करीब छह घंटे की देरी से चार बजे सिधौना पहुंचा। जहां सैकड़ों की संख्या में जुटे कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। इसके बाद वहां से वो निकले तो सादी भादी औड़िहार में स्वागत हुआ। जहां कार्यकर्ताओं ने फूल मालाआंे से लाद दिया। वहां पर अधिवक्ताओं ने उन्हें पत्रक भी सौंपा। इस मौके पर ग्राम प्रधान धर्मेंद्र सिंह, मनीष तिवारी, रविंद्र, अर्पित, गिरीश गुप्ता, छोटू पाठक, शुभम, अतुल, संजय सिंह, गोपाल आदि मौजूद थे। इसके बाद आगे जौहरगंज कैनल पंप पर बाइक से मौजूद कार्यकर्ताओं ने उनके काफिले के आगे सैदपुर तक जुलूस निकाला और हाथों में झंडा लेकर नगर में पहुंचे। नगर में तहसील मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर डा. पांडेय का काफिला रूका और वो प्राचीन मां काली मंदिर में दर्शनार्थ निकले। सुबह से ही डा. पांडेय का इंतजार कर रहे कार्यकर्ताओं ने जैसे ही उनका काफिला देखा तो दौड़कर वहां पहुंचे और वहीं पर माल्यार्पण कर स्वागत करने लगे। इसके बाद वो मंदिर में पहुंचकर दर्शन पूजन किए जहां पुजारी सूर्यकांत मिश्र ने साफा पहनाकर उनका स्वागत किया। वहां से सैकड़ों कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ वो पैदल ही तहसील स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर पहुंचे। लेकिन पल पल बढ़ रही भीड़ ने उनके पैर बांध दिया। सुरक्षाबलों को भी प्रतिमा तक पहुंचाने में खूब मशक्कत करनी पड़ रही थी। खुद क्षेत्राधिकारी सर्वेश मिश्र भी भीड़ में फंस गए थे। हर कोई उन्हें माला पहनाने व उनके संग सेल्फी लेने को आतुर दिख रहा था। इसके बाद किसी तरह से वो प्रतिमा तक पहुंचे और माल्यार्पण कर आशीर्वाद लिया। नगरवासियों को उनके नाम से संबोधित करते हुए कहा कि उनका सैदपुर से पुराना नहीं बल्कि जन्म का नाता है। वो यहीं के पख्खनपुर में पैदा हुए। ऐसे में वो किसी को नहीं भूल सकते। कहा कि सैदपुर का उनपर कर्ज है जिसे वो किसी जन्म में नहीं चुका सकते। देर होने के कारण कहा कि ज्यादा भाषण नहीं देंगे लेकिन निकाय चुनाव करीब है ऐसे में सभी कार्यकर्ता संगठित हो जाएं और सिर्फ भाजपा के लिए काम करें। कहा कि पिछली सरकारों ने जितने पाप किए हैं अभी हमारी सरकार उन्हें धोने का प्रयास कर रही है। इसके पश्चात मौजूद लोगों नारे लगवाकर आगे रवाना हो गए। इस मौके पर जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, जमानियां विधायक सुनीता सिंह, एमएलसी विशाल सिंह चंचल, पूर्व विधायक पशुपति नाथ राय, नगर पालिका गाजीपुर के चेयरमैन विनोद अग्रवाल, योगेश सिंह, रामतेज पांडेय, पूर्व जिलाध्यक्ष कृष्ण बिहारी राय, अविनाश चंद्र बरनवाल, नवीन अग्रवाल, सुमन कमलापुरी, विकास बरनवाल, राधेश्याम मोदनवाल, अनुराग जायसवाल, हिमांशु सोनी, हरिशरण वर्मा, रंजन जायसवाल, विनय सिंह, रवि जायसवाल, शुभम मोदनवाल, रजनीकांत सोनकर, विवेक कुमार सहित सैकड़ों की संख्या में मौजूद थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के नगर में आने की सूचना मिलते ही आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां हाथों में फूल माला व मांग पत्र लेकर तहसील मुख्यालय पर जुट गईं थीं। उनके आते ही उन्होंने पत्रक सौंपकर उनसे अनुरोध किया कि उनकी मांगों को पूरा कराया जाए। जिलाध्यक्ष व पूर्वांचल प्रभारी रमेश कुमार ने कहा कि अप्रैल 2016 में लखनऊ में आयोजित एक रैली में भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा भरोसा दिया गया था कि वो सरकार बनने के बाद आंगनबाड़ी कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि करते हुए सेवा शर्तों में सुधार करेंगे। लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ। इसके साथ ही 2017 के चुनावी घोषणापत्र में भी कहा गया था कि सरकार बनने के 120 दिनों के अंदर मानदेय बढ़ाया जाएगा। कहा कि अपने वादे पूरे न करने के बाद पार्टी को लेकर लोगों में रोष व्याप्त है। ऐसे में शीघ्र ही इस मामले में ठोस कदम उठाते हुए हमारा मानदेय बढ़ाया जाए। नगर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडेय के आगमन के मौके पर पूरा नगर पहली बार भाजपामय हो गया था। दरअसल मौका भी था और दस्तूर भी था। मौका था सैदपुर के लाल व प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत का तो दस्तूर के लिए एक महीने में होने वाले निकाय चुनाव के परिप्रेक्ष्य में टिकट पाने की लालसा थी। सिधौना से लगायत पूरा सैदपुर की सीमा तक कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों के होर्डिंग टंगे थे। तहसील के पास पूरा हिस्सा अलग अलग कार्यकर्ताओं के होर्डिंग से पटा पड़ा था। हर कोई अपने नेता को किसी न किसी तरह से अपना चेहरा दिखाना चाह रहा था। वहीं पहली बार किसी नेता के नगर आगमन पर उसके स्वागत के लिए इतनी ऐतिहासिक भीड़ देखने को मिली। प्रदेश अध्यक्ष के नगर में आने के बाद से करीब आधे घंटे तक पूरा राजमार्ग 29 जाम हो गया था। दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई थीं। वहीं तहसील के सामने भी सैकड़ों की संख्या में जनसैलाब उमड़ पड़ा था। इतनी भीड़ तब भी नहीं हुई थी जब रेलराज्य मंत्री मनोज सिन्हा अथवा खुद डा. पांडेय पहली बार केंद्रीय मंत्री बनकर नगर में आए थे। लोगों में चर्चा रही कि डा. पांडेय का इतना ज्यादा स्वागत सम्मान भी सिर्फ इसी वजह से हुआ क्योंकि वो वर्तमान में प्रदेश अध्यक्ष हैं। ऐसे में टिकट पाने के लिए ही इतने ज्यादा संख्या में कार्यकर्ता व पदाधिकारी जुटे।

About admin

Check Also

शांति समिति की बैठक सम्पन्न

गाजीपुर/नंदगंज। दीपावली और छठ त्योहारों को शान्ति पूर्वक व प्रेमभाव के साथ मनाने हेतु थाना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *