Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » अपर महाधिवक्ता के गृह जनपद आगमन पर अधिवक्ताओं व शिक्षकों ने किया अभूतपूर्व स्वागत

अपर महाधिवक्ता के गृह जनपद आगमन पर अधिवक्ताओं व शिक्षकों ने किया अभूतपूर्व स्वागत

गाजीपुर। अपर महाधिवक्ता हाईकोर्ट इलाहाबाद अजीत कुमार सिंह का अपने गृह जनपद गाजीपुर में जोरदार स्वागत किया गया। सिविल और कलेक्ट्रेट दोनों बार एसोशियन के पदाधिकारी एवं भारी संख्या में अधिवक्तागण मौजूद थे। सेन्ट्रल हाल में पहुँचते ही अधिवक्ताओं के भारी हूजूम ने स्वागत करते हुए यथास्थान मुख्य अतिथि मंचासीन कराया। सर्वप्रथम सिविल बार एसोशिएसन में अपर महाधिवक्ता महोदय का स्वागत हुआ। बार के अध्यक्ष विजय कुमार पाण्डेय और महामंत्री ने मुख्य अतिथि का स्वागत माल्यार्पण कर किया। अन्य बरिष्ठ अधिवक्ता रणजीत सिह,वारिस हसन,रामपूजन सिंह,कृपाशंकर सिंह,रामाधार राय आदि ने अपने विचार रखे। वक्ताओं ने कहा कि जिले से पहलीबार इस पद पर आसीन होने वाले अजीत कुमार सिंह ने जनपद को गौरवान्वित किया है। इसी क्रम में कलेक्ट्रेट बार में भी अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार चौबे और महामंत्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने मुख्य अतिथि का अपने अधिवक्ता मित्रों के साथ जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता बालेश्वर सिंह, चिरायु प्रसाद, सच्चिदानन्द सिंह आदि ने अपने विचार रखें। यह सिलसिला यहीं नहीं रूका अजीत कुमार सिंह महाविद्यालय गाजीपुर के सचिव/प्रबन्धक भी हैं। वहां तो जश्न का माहौल था। क्या प्राचार्य क्या प्राध्यापक क्या तृतीय या चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, छात्र-छात्राएं सभी के चेहरे खिले थे। सभी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। पूरा महाविद्यालय परिवार स्वागत हेतु आतुर दिखा। प्राचार्य डा. अशोक कुमार सिंह की अगुवाई मे डा. बालेश्वर सिंह, डा. बद्री प्रसाद सिंह,डा. डीआर. सिंह, डा. शमशेर बहादुर सिंह, डा.श्रीकान्त पाण्डेय, कामता बाबू, अनिल कुमार पाण्डेय आदि ने स्वागत किया। तत्पश्चात परिसर का निरीक्षण करने के क्रम में व्यावसायिक शिक्षण (टेरी) कृषि विज्ञान केन्द्र आदि का निरीक्षण क्रम में स्वागत हुआ। वहां से डेयरी(गौशाला) में गये। गोमाता को चारा-अन्न खिलाया। लौटते समय आदर्श इण्टर कालेज गये। वहां प्रिंसिपल डा. पारस नाथ सिंह ने सहयोगियों समेत स्वागत किया। इस पूरे कार्यक्रम में डा. शशिकांत राय प्राचार्य स्वामी सहजानंद महाविद्यालय, गाजीपुर समेत हम और राघवेन्द्र प्रताप आजमगढ मौजूद रहे।

About admin

Check Also

मूर्ति विसर्जन के लिए इस वर्ष बनेंगे दो गड्ढे

गाजीपुर। गंगा नदी में मूर्ति विसर्जन के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाई गयी रोक आदेशानुसार …