Breaking News
Home » ग़ाज़ीपुर » रसोईया को नौकरी से निकालने पर ग्रामीणों ने किया प्रधानाध्यापक का घेराव

रसोईया को नौकरी से निकालने पर ग्रामीणों ने किया प्रधानाध्यापक का घेराव

गज़ीपुर/बिरनो। शिक्षा क्षेत्र मरदह अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय बरही पर मंगलवार को रसोईया चंद्रावती देवी को विद्यालय से निकाले जाने से झुब्ध होकर रसोईया संग ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक कैलाश सिंह यादव का घेराव किया। ग्रामीणों का कहना है कि चंद्रावती देवी विगत कई वर्षो से विद्यालय पर बच्चों को खाना बनाने का काम करती आ रही है। उनको विद्यालय से निकलने का कोई औचित्य नही बनता। मालूम हो कि विद्यालय पर 4 रसोईया कार्यरत थी जिसमे 2 विधवा,1 अनुसूचित जाति की जबकि 1 चंद्रावती देवी अनुसूचित जन जाति से आती हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अगर जाति वरियता को मानक माना जाय तो चंद्रावती देवी भी एक रसोईया जो कि अनुसूचित जाति से आती है उससे भी निचली जाती से आती है ऊपर से लगभग 16 सालों से कार्यरत है गरीब है तो फिर विद्यालय से चंद्रावती को ही क्यों निकाला गया। ग्रामीणों का कहना है कि अगर प्रधानाध्यापक द्वारा जल्द से जल्द रसोईया चंद्रावती को पुनरन्युक्त नही किया गया तो हम लोग सम्बंधित अधिकारियों के यहाँ धरना-प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे। वहीं विद्यालय के प्रधानाध्यापक कैलाश सिंह यादव का कहना है कि छात्र संख्या कम होने की वजह से चंद्रावती देवी को निकाला गया। छात्र संख्या अगर बढ़ती है तो अगले सत्र से पुनः न्युक्त कर लिया जाएगा। घेराव करने वालों में श्रीराम यादव, गामा गोंड, महेंद्र गुप्ता, लालू मुसहर, मुन्ना शर्मा, पप्पू पटेल, बबलू गोंड, जंगी राजभर, जितेंद्र बरनवाल, लल्लन गोंड आदि लोग मौजूद थे।

About admin

Check Also

गरीबों और किसानों के मसीहा थें कामरेड सरजू पांडेय

कासिमाबाद। महान स्वाधीनता सेनानी पूर्व सांसद एमएलसी तथा मेहनतकश आवाम के नेता कामरेड स्वर्गीय सरयू …